Home देश विदेश Maria Andrejczyk : दिल हो तो इतना बड़ा,रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल...

Maria Andrejczyk : दिल हो तो इतना बड़ा,रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली maria andrejczyk ने नीलाम किया अपना मैडल

0

पोलैंड की मारिया आंद्रेजिक ने 6 अगस्त को महिलाओं के भाला फेंक फाइनल में 64.61 मीटर के अपने सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक जीता था। जिसके बाद आंद्रेजिक को उनके इस प्रदर्शन की बदौलत की वजह से उन्हें क्वाड्रेनियल इवेंट में पोडियम पर खड़े होकर देश को गौरवान्वित करने का अवसर मिला था।

लेकिन आज कल वह फिर सुर्खियों में हैं। दरअसल Andrejczyk ने अमेरिका के एक आठ महीने के बच्चे के दिल की सर्जरी करवाने के लिए धन जुटाने में मदद करने के लिए अपने ओलंपिक रजत पदक की नीलामी की है।

क्या है पूरी कहानी

Andrejczyk ने 11 अगस्त को फेसबुक के माध्यम से घोषणा की वो अमेरिका के एक बालक मिलोस्ज़ेक मलयसा के दिल की सर्जरी के लिए एक फंडराइज़र के जरिए फंड जुटाने के लिये रियो में जीते अपने ओलंपिक रजत पदक की नीलामी करेंगी।

रियो ओलिंपिक में रजत पदक जीतने से पहले 25 वर्षीय मारिया ग्रीष्मकालीन खेलों में फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में पहले स्थान पर रही, लेकिन चीन के लियू शियिंग ने पछाड़ दिया था। यह उनका पहला ओलंपिक पदक है।

मारिया अंद्रेजकजयक ने लिखा कि “मैंने इस बारे में सोचने में लंबा समय नहीं लगाया, यह पहला फंडराइज़र था जो मेरे सामने आया और मुझे पता था कि यह सही था,”।

Andrejczyk ने बताया कि तत्काल सर्जरी के लिए Małysa को 1.5 मिलियन ज़्लॉटी ($ 383,000) की आवश्यकता थी।  आधा पैसा पहले ही जुटा लिया गया था और बाकी रकम मारिया ने जुटाने का निर्णय लिया।

मैलिसा की मां, मोनिका के अनुसार, उनके गृह देश, पोलैंड में उनके बच्चे की मदद के लिए फण्ड जुटाने के अलावा अब कोई विकल्प नहीं है, उनकी आखिरी उम्मीद स्टैनफोर्ड, कैलिफोर्निया में होने वाला ऑपरेशन ही एक आखरी उम्मीद है।

Maria andrejczyk ने बताया कि $ 51,000 से शुरू हुईं बोली $ 125,000 पर खत्म हुई और सबसे हाई कोर्ट रकम के साथ इस बोली को पोलिश की सुपरमार्केट ग्रुप abka ने अपने नाम किया।

अपने रजत पदक की नीलामी के बाद मरिया ने कहा कि…”यह मेरी सबसे बड़ी खुशी में से एक है जो अब मैं आपको देती हूं, मेरा पदक जो मेरे लिए कई चुनौतियों के बावजूद संघर्ष, विश्वास और सपनों की खोज का प्रतीक है,” मैं आपके लिए आशा करती हूं कि यह मेरे जीवन का एक प्रतीक होगा।

उमीद है कि जुटाए गए धन से मैयसा को स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर में आवश्यक सर्जरी कराने की अनुमति मिल जाएगी।

नीलामी के बाद, Żabka ने घोषणा की कि वे पदक Andrejczyk को लौटा देंगे।

साथ ही उन्होंने अपनी एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि “हम अपने ओलंपियन के सुंदर और बेहद नेक हावभाव से प्रभावित हुए,” “इसलिए, हमने बीमार Miłoszek के लिए धन के संग्रह का समर्थन करने का फैसला किया। हमने यह भी तय किया कि टोक्यो से रजत पदक श्रीमती मारिया के पास रहेगा, जिन्होंने दिखाया कि वह कितनी महान हैं।”

Andrejczyk इससे पहले 2016 के रियो खेलों में केवल दो सेंटीमीटर से ओलंपिक पदक से चूक गयी थी।

2016 के रियो ओलंपिक में 64.78 के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ चौथे स्थान पर रहने के बाद आंद्रेजिक एक पदक से चूक गयी थी। उस समय वह 0.02 सेमी के अंतर से पोडियम फिनिश करने से चूक गईं थी ।
2019 में, मारिया आंद्रेजिक ने ओस्टियोमा, एक सौम्य हड्डी के ट्यूमर का निदान होने के बाद एक सर्जरी की।  हालांकि, वह ठीक हो गई और उन्होंने टोक्यो में अपना पहला ओलंपिक पदक जीता।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: